कार्य विभाजन

 

 


                                                         संलग्‍नक-1

उत्तर प्रदेश सरकार
विधायी अनुभाग-1


संख्‍या-1721/79-वि-1-16-48/05
लखनऊ: दिनांक  23 नवम्‍बर, 2016

 

विषय:-

विधायी विभाग में अधिकारियों के मध्‍य कार्य बटवारा।

 

तात्‍कालिक प्रभाव से विधायी विभाग के अधिकारियों के मध्‍य कार्य आवंटन निम्‍नानुसार किया जाता है :-

प्रमुख सचिव, विधायी

1.निम्नलिखित विभागों का प्रभार एवं प्रशासनिक नियंत्रण
(1) विधायी अनुभाग-1
(2) विधायी अनुभाग-2

(3) भाषा अनुभाग-5

(4) भाषा अनुभाग-6

2.विधायी प्रस्‍तावों एवं उनकी प्रक्रिया के विषय में अनुदेश जारी करना।

3.विधेयकों/अध्‍यादेशों का अन्तिम विधीक्षण।

4.राष्‍ट्रपति/राज्‍यपाल की अनुमति/अनुदेश प्राप्‍त करना। 

5.समस्‍त कार्य जो प्रवृत्‍त आदेश द्वारा अन्‍य किसी अधिकारी को आवंटित नहीं है।
 

विशेष सचिव एवं अपर विधि परामर्शी (श्री मनोहर लाल)

1-  विधायी अनुभाग-1 के प्रभार एवं उनके समस्‍त कार्य। 

2-  उत्‍तर प्रदेश राज्‍य विधि आयोग से सम्‍बन्धित समस्‍त कार्य। 

3-  विधायी विभाग से सम्‍बन्धित रिट याचिकाओं का कार्य। 

4-  प्रमुख सचिव द्वारा आवंटित विधेयकों/अध्‍यादेशों का आलेखन एवं अन्‍य कार्य। 

5-  प्रतिनिहित विधायन समिति तथा उनकी संस्‍तुतियॉं। 

6-  असरकारी विधेयकों/संकल्‍पों का परीक्षण। 

7-  विभागीय वाहन का प्रभार।

8-  निम्‍नलिखित विभागों के प्रतिनिहित विधायन (अंग्रेजी आलेखों का अन्तिम विधीक्षण):-

(1)  परिवहन 

(2)  होमगार्ड व नागरिक सुरक्षा व राजनैतिक पेंशन 

(3)  कृषि एवं कृषि शिक्षा अनुसन्‍धान

(4)  पंचायती राज

(5)  महिला एवं बाल विकास 

(6)  राज्‍य सम्‍पत्ति

(7)  कृषि विपणन एवं कृषि विदेश व्‍यापार अनुभाग

(8)  वन

(9)  समाज कल्‍याण्‍

(10) सैनिक कल्‍याण

(11) सतर्कता विभाग

(12) उच्‍च शिक्षा विभाग, माध्‍यमिक शिक्षा एवं बेसिक शिक्षा

(13) लोक निर्माण

(14) नियुक्ति एवं कार्मिक

(15) सहकारिता

(16) खाद्य एवं रसद

(17) अम्‍बेडकर ग्राम्‍य विकास

(18) वित्‍त एवं संस्‍थागत वित्‍त

(19) ग्राम्‍य विकास, समग्र ग्राम्‍य विकास एवं ग्रामीण अभियंत्रण सेवा

(20) सिंचाई, लघु सिंचाई एवं भूगर्भ जल तथा सिंचाई एवं जल संसाधन

(21) आबकारी विभाग।

(22)  प्रशासनिक सुधार

(23)  सचिवालय प्रशासन

(24)  प्राविधिक शिक्षा, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, पर्यावरण, वैकल्पिक ऊर्जा तथा व्‍यावसायिक   शिक्षा। 

(25) पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन।

(26) विकलांग कल्‍याण ।

(27) पिछडा वर्ग कल्‍याण।

(28) सामान्‍य प्रशासन।

(29) भाषा।

(30) प्रोटोकाल एवं मुख्‍य मंत्री कार्यालय।

9-  उक्‍त विभागों के अभियोजन सम्‍बन्‍धी आलेखों का विधीक्षण।

10- उक्‍त विभागों से सम्‍बन्धित विधेयक/अध्‍यादेश सम्‍बन्‍धी विधायी प्रस्‍तावों का प्रारम्भिक रूप से निस्‍तारण/विधीक्षण।

11- विशेष सचिव एवं अपर विधि परामर्शी श्रीमती कुमुद पाल द्वारा विधीक्षित अंग्रेजी आलेखों के हिन्‍दी रूपान्‍तर का अन्तिम विधीक्षण विशेष सचिव एवं अपर विधि परामर्शी श्री मनोहर लाल द्वारा किया जायेगा।

12- केन्‍द्रीय एवं राज्‍य विधि आयोग की संस्‍तुतियॉं।

13- कार्मिक नियमावली कोष्‍ठक से सम्‍बन्धित विभागों की सेवा नियमावली के अंग्रेजी आलेख का अन्तिम विधीक्षण।

14- अध्‍यादेशों/अधिनियमों के प्रकाशन से सम्‍बन्धित कार्य।

15- राज्‍यपाल/राष्‍ट्रपति की अनुमति तथा निर्देश।

16- विधायी प्रस्‍तावों के सम्‍बन्‍ध में प्रशासकीय विभागों के अनुदेश।

17- विधेयकों के उद्देश्‍य एवं कारण, प्रतिनिहित विधायन के ज्ञापन तथा रूपभेदों का ज्ञापन एवं अध्‍यादेशों के ज्ञापन पत्र तैयार करना।

18- निरसन तथा संशोधन विधेयक।

19- प्रमुख सचिव, विधायी द्वारा आवंटित किसी भी विभाग का विधायी कार्य।

20- श्री मनोहर लाल के लिंक अधिकारी श्रीमती कुमुद पाल होंगी। 

 

विशेष सचिव एवं अपर विधि परामर्शी (श्रीमती कुमुद पाल)

1-  विधायी अनुभाग-2 का प्रभार एवं समस्‍त कार्य। 

2-  भाषा अनुभाग-5 व 6 का प्रभार एवं उनके समस्‍त कार्य।

3-  निम्‍नलिखित विभागों के प्रतिनिहित विधायन (अंग्रेजी आलेखों का अन्तिम विधीक्षण):-

(1)  संस्‍कृति

(2)  रेशम

(3)  गृह एवं कारागार सुधार प्रशासन बीजा एवं पासपोर्ट

(4)  दुग्‍ध विकास

(5)  गृह (बीजा)

(6)  पशुधन एवं मत्‍स्‍य

(7)  निर्वाचन

(8)  युवा कल्‍याण 

(9)  समन्‍वय अनुभाग (ग्राम्‍य विकास एवं कार्यक्रम कार्यान्‍वयन)

(10) ऊर्जा एवं अतिरिक्‍त ऊर्जा स्रोत

(11) गोपन

(12) हथकरघा वस्‍त्र उद्योग

(13) अवस्‍थापना एवं औद्योगिक विकास, खादी एवं ग्रामोद्योग तथा आई0टी0 एवं इलेक्‍ट्रानिक्‍स

(14) बाह्य सहायतित परियोजना

(15) सार्वजनिक उद्यम

(16) धर्मार्थ कार्य

(17) राष्‍ट्रीय एकीकरण

(18) नियोजन एवं राज्‍य योजना आयोग

(19) बीस सूत्रीय कार्यक्रम

(20) परती भूमि अनुभाग

    (21) क्षेत्रीय विकास विभाग। 

(22)  श्रम विभाग  

(23)  चिकित्‍सा, स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण 

(24)  राजस्‍व

(25)  चीनी उद्योग एवं गन्‍ना विकास

(26) आवास एवं शहरी नियोजन तथा नगर विकास तथा नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्‍मूलन कार्यक्रम।

(27)  न्‍याय, विधायी एवं संसदीय कार्य

(28) चिकित्‍सा, चिकित्‍सा शिक्षा तथा खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन।

(29) अल्‍पसंख्‍यक कल्‍याण एवं वक्‍फ।

(30) उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्‍करण अनुभाग।

(31) सूक्ष्‍य लघु एवं मध्‍यम उद्योग, निर्यात प्रोत्‍साहन तथा भूतत्‍व एवं खनिकर्म।

(32) खेल।

(33) सूचना विभाग।

4-  उक्‍त विभागों के अभियोजन सम्‍बन्‍धी आलेखों का विधीक्षण।

5-  उक्‍त विभागों से सम्‍बन्धित विधेयक/अध्‍यादेश सम्‍बन्‍धी विधायी प्रस्‍तावों का प्रारम्भिक रूप से निस्‍तारण/विधीक्षण।

6-  विशेष सचिव एवं अपर विधि परामर्शी श्री मनोहर लाल द्वारा विधीक्षित अंग्रेजी आलेखों के हिन्‍दी रूपान्‍तर का अन्तिम विधीक्षण विशेष सचिव एवं अपर विधि परामर्शी श्रीमती कुमुद पाल द्वारा किया जायेगा।

7-  श्रीमती कुमुद पाल के लिंक अधिकारी श्री मनोहर लाल होंगे। 

8-  प्रमुख सचिव, विधायी द्वारा आवंटित किसी भी विभाग का विधायी कार्य।

 

अनु सचिव (श्री गिरिजा पति द्विवेदी)

 

1-  विधायी अनुभाग-1 के केन्‍द्रीय विधि आयोग एवं उ0प्र0 राज्‍य विधि आयोग से सम्‍बन्धित समस्‍त कार्य, विधायी विभाग के अधिष्‍ठान से सम्‍बन्धित समस्‍त कार्य तथा विधायी विभाग से सम्‍बन्धित वादों में यथोचित पैरवी करना तथा आवश्‍यकतानुसार प्रार्थना पत्र, शपथ पत्र, प्रतिशपथ पत्र एवं प्रत्‍युत्‍तर इत्‍यादि योजित करने से सम्‍बन्धित कार्य।

2-  विधायी अनुभाग-2 के समस्‍त कार्य।

3-  उपर्युक्‍त कार्यो से सम्‍बन्धित समस्‍त पत्रावलियॉं सम्‍बन्धित विशेष सचिव को प्रस्‍तुत की जायेंगी।

4-  अनु सचिव की अनुपस्थिति में विधायी विभाग से सम्‍बन्धित वादों का उक्‍त कार्य सम्‍बन्धित अनुभाग अधिकारी द्वारा सम्‍पादित किया जायेगा।

निर्देश :-

 

   1-  जिन विभागों के प्रतिनिहित विधायन के अंग्रेजी व हिन्‍दी आलेखों का आवंटन किसी भी अधिकारी को नहीं किया गया हे ऐसे विभागों के अंग्रेजी आलेखों का विधीक्षण विशेष सचिव एवं अपर विधि परामर्शी श्री मनोहर लाल करेंगे तथा हिन्‍दी आलेखों का विधीक्षण विशेष सचिव एवं अपर विधि परामर्शी श्रीमती कुमुद पाल करेंगी।

2-    जिस अधिकारी ने अध्‍यादेश का आलेखन किया हो, सामान्‍यत: वहीं उसक प्रतिस्‍थानी विधेयक का आलेखन करेगा।

3-    जिन मामलों में विधीक्षण अधिकारी की राय न्‍याय विभाग से भिन्‍न हो उन मामलों में प्रमुख सचिव को अन्तिम निस्‍तारण हेतु प्रस्‍तुत किया जायेगा।

4-    प्रतिनिहित विधायन के अंग्रेजी आलेखन में यदि असुविधा न हो और हिन्‍दी आलेख में कुछ परिवर्तन आवश्‍यक प्रतीत हों तो दोनों अधिकारी विचार-विमर्श कर लेंगे फिर भी यदि आवश्‍यक हो तो प्रमुख सचिव को सन्‍दर्भित करेंगे।

5-    किसी विधेयक से सम्‍बन्धित प्रवर समिति में वह अधिकारी भाग लेगा जिसने विधेयक का आलेखन किया हो।

6-    शासन के सभी विभागों से प्राप्‍त होने वाले विधेयक/अध्‍यादेश सम्‍बन्‍धी विधि प्रस्‍ताव प्रमुख सचिव को प्रस्‍तुत किये जायेंगे और उनके द्वारा निर्दिष्‍ट अधिकारी द्वारा उसका संवैधानिक परीक्षण/आलेखन तथा निस्‍तारण किया जायेगा।

 

 

वीरेन्‍द्र कुमार श्रीवास्‍तव,

प्रमुख सचिव,

विधायी विभाग,

 उत्‍तर प्रदेश शासन।

संख्‍या- 805(1)/79-वि-1-2017, तद्दिनांक

      प्रतिलिपि निम्‍नलिखित को सूचनार्थ एवं आवश्‍यक कार्यवाही हेतु प्रेषित:-

1-    श्री राज्‍यपाल के प्रमुख सचिव को श्री राज्‍यपाल के सूचनार्थ।

2-    मुख्‍य सचिव, उत्‍तर प्रदेश शासन।

3-    समस्‍त प्रमुख सचिव/सचिव, उ0प्र0 शासन।

4-    निजी सचिव, प्रमुख सचिव, न्‍याय, विधायी एवं संसदीय कार्य विभाग।

5-    विधायी एवं संसदीय कार्य विभाग के समस्‍त अनुभाग एवं समस्‍त अधिकारी।

6-    भाषा अनुभाग-5/6

7-    विधि परामर्शी पुस्‍तकालय।

8-    कार्मिक नियमावली सेल।

9-    गार्ड बुक।

 

 

 

                                                                                  आज्ञा से,

                                                                                    ह0

(वीरेन्‍द्र कुमार श्रीवास्‍तव)

प्रमुख सचिव।