अनुभाग स्तर

 

 

 

विधायी अनुभाग-1

क्र०सं०

पद का नाम

सृजित पद

कार्यतर

रिक्त

1

अनुभाग अधिकारी

1

1

-

2

विधीक्षण अधिकारी

2

1

1

3

समीक्षा अधिकारी

4

4

-

4

सहायक समीक्षा अधिकारी

2

1

1

5

कम्‍प्‍यूटर सहायक

1

--

1

6

अनुसेवक

1

1

-

विधायी  अनुभाग-2

क्रं0सं0

पद का नाम

सृजित पद

 कार्यरत

रिक्त

1

अनुभाग अधिकारी 

1

1

-

2

समीक्षा अधिकारी

2

1

1

3

सहायक समीक्षा अधिकारी

3

1

2

4

कम्‍प्‍यूटर सहायक

1

1

-

5

अनुसेवक

1

1

-

4.   विधायी विभाग में कार्यों के निस्‍तारण हेतु अपनायी जाने वाली प्रक्रिया का विवरण

विभाग से सम्‍बन्धित कोई भी प्रार्थना पत्र/प्रत्‍यावेदन आदि उच्‍चाधिकारियों से प्राप्‍त होने पर उसे सम्‍बन्धित अनुभाग को विचारण एवं आवश्‍यक कार्यवाही हेतु भेज दिया जाता है, जहॉं पर सहायक समीक्षा अधिकारी द्वारा उसे अनुभाग की सम्‍बन्धित पंजिका में प्रविष्टि करके सम्‍बन्धित समीक्षा अधिकारी को सौप दिया जाता है।

    फिर समीक्षा अधिकारी द्वारा प्राप्‍त विचाराधीन पत्र की समीक्षा करते हुए अपनी टिप्‍पणी/प्रस्‍ताव सहित अनुभाग अधिकारी को प्रस्‍तुत कर दिया जाता है।

      अनुभाग अधिकारी द्वारा परीक्षण करने के उपरान्‍त उसे उच्‍चानुमोदन हेतु अनु सचिव/उप सचिव (जैसा वॉंछनीय हो) को प्रस्‍तुत किया जाता है।      अनु सचिव/उप सचिव पत्रावली का अवलोकन/परीक्षण करने के उपरान्‍त अपने प्रस्‍ताव/ टिप्‍पणी सहित उसे सम्‍बन्धित विशेष सचिव को अनुमोदनार्थ/आदेशार्थ प्रस्‍तुत कर देते हैं।

      विशेष सचिव पत्रावली का अवलोकन एवं निरीक्षण करके सम्‍यक विचारोपरान्‍त उस पर यथोचित आदेश पारित करते हैं और वे पत्रावलियॉं उनके स्‍तर से निस्‍तारित हो जाती हैं।

 कतिपय पत्रावलियॉं आवश्‍यकतानुसार प्रमुख सचिव को प्रेषित कर दी जाती हैं। अन्‍तत: लिए गये निर्णय से सहमत होने पर प्रमुख सचिव निर्णय को अनुमोदित करते हैं और अन्‍यथा  स्थिति में  अपने निर्देश के साथ पत्रावली सम्‍बन्धित विशेष सचिव को आवश्‍यक कार्यवाही हेतु वापस कर देते हैं।

      इस प्रकार विनिश्‍चय करने वाली प्रक्रिया के क्रम में पर्यवेक्षण के उपरान्‍त अन्तिम निर्णय लेने वाले अधिकारी का उत्‍तरदायित्‍व निर्धारित हो जाता है।

 

5.      विभाग के कार्यों के निर्वहन के लिए विभाग द्वारा स्थापित मानक
 विभागाध्यक्ष/प्रमुख सचिव द्वारा विधायी विभाग में वर्तमान में कार्यरत अधिकारियों के मध् कार्य बंटवारा आदेश दिनांक 14 मार्च, 2018 (संलग्नक-1) के अनुसार आवंटित कार्य।
 

6.      विभाग के नियंत्रण के अधीन या इसके द्वारा धारित या इसके कार्यों के निर्वहन के लिए इसके कर्मचारियों द्वारा प्रयुक्त नियम, विनियम, निर्देंश, निर्देशिका और अभिलेख।

विभाग के कार्यों का निर्वहन, इसके कर्मचारियों द्वारा निम्नलिखित के अनुसार किया जाता है:-
(1) उत्तर प्रदेश कार्य (बंटवारा) नियमावली, 1975
तथा
उत्तर प्रदेश सचिवालय के अनुभागों/विभागों के बीच कार्य बटवारा
(1) सचिवालय नियम संग्रह, उत्तर प्रदेश शासन। (सचिवालय मैनुअल)
(2) विधि परामर्शी मैनुअल
(3) वित्तीय हस्तपुस्तिका
(4) राज्य कर्मचारी आचरण नियमावली
(5) अधीनस्थ विधायन का संकलन
(6) प्रतिनिहित विधायन का संकलन
(7) उत्तर प्रदेश विधान सभा की प्रक्रिया तथा कार्य संचालन नियमावली, 1958
(8) उत्तर प्रदेश विधान परिषद प्रक्रिया तथा कार्य संचालन नियमावली, 1956

(9) उत्तर प्रदेश सचिवालय अनुदेश, 1982

(10) शासन द्वारा समय-समय पर जारी शासनादेशों/ निर्देशों का संकलन।
 

7.      उन दस्तावेजों की श्रेणियों का विवरण, जो इसके द्वारा या इसके नियंत्रण के अधीन धारित होते हैं:-
उत्तर प्रदेश राज्य से संबंधित समस्त विधेयक एवं अध्यादेश।

 

8.      इलेक्ट्रानिक रूप में की गयी, इसे उपलब् या इसके द्वारा धारित, सूचना के सम्बन् में विवरण:-
 विभागीय वेबसाइट (http://vidhai.up.nic.in)
 

9.      सूचना प्राप् करने के लिए नागरिकों को उपलब् सुविधाओं का विवरण, जिसमें
लाइब्रेरी या अध्ययन कक्ष के कार्य-समय शामिल है, यदि जनता के उपयोग के लिए रखा गया हो:-

विभागीय वेबसाइट एवं सूचना के अधिकार अधिनियम, 2005 के अन्तर्गत निर्धारित प्रक्रिया के अनुरूप प्रदत् सुविधा।
 

10.  लोक सूचना अधिकारियों के नाम, पदनाम और अन् वर्णन :-
1- श्रीमती कुमुद पाल, विशेष सचिव एवं प्रथम अपीलीय अधिकारी

2- श्री डी0के0 शुक्‍ल, अ‍नुभाग अधिकारी एवं जन सूचना अधिकारी